Class Central is learner-supported. When you buy through links on our site, we may earn an affiliate commission.

AICTE

Non-Communicable Diseases (गैर संक्रामक रोग)

AICTE and Indian Council of Medical Research (ICMR) via Swayam

This course may be unavailable.

Overview

इस फिल्म में गैर संचारी गोगों के बारे में जानकारी दी गई है। इसमें हृदय रोग, उच्च रक्तचाप, डायबिटीज़ ऐर कैंसर जैसी बीमारियों के साथ गैर संक्रामक बीमारियों की जानकारी दी गई है। इसमें कहा गया है कि यह गैर संक्रामक रोग हमारे लिए मौत का कारण भी बन सकते हैं। इन बीमारियों की मुंख्य वजह हमारी गलत जीवन शैली, गल खान-पान और शारीरिक परिश्रम के अभाव को बताया गया है। अस्वस्छ माहौल, प्रदूषण तथा शराब और सिगरेट, तम्बाकू आदि का सेवन भी इन बीमारियों की मुख्य वजह बताया गया है। खान-पान की गलत आदतों को भी इसका मुख्य कारण बताया गया है। मोटापा., थिन प्रेट, डिसलिपिडिया और अथिलोस्कूलीरोसिस जैसी समस्याओं की संक्षिप्त जानकारी दी गई है। मोटापे के कारणो, मोटापे की समस्या की पहचान और उसके उपचार का विस्तर से जानकारी दी गई है। इससे निजात के लिए व्यायाम की विभिन्न पद्धतियों की जानकारी दी गई है। साथ ही प्रोटीन, फाइबर तथा हरी पत्तेदार सब्जियों और विभिन्न फलों के सेवन की सलाह दी गई है। इसी तरह थिन फैट के बारे में भी जानकारी दी गई है। इसके कारणों का विस्तार से वर्णण किया गया है। जबकि डिसलिपिडिया यानी खून में लिपिड की मात्रा बढने के बारे में जानकारी दी गई है। बताया गया है कि इससे दिल का दौरा भी पड़ सकता है। इसी तरह अथिलोस्कूलीरोसिस की भी जानकारी दी गई है। मधुमेह के कारणों, उसकी स्थितियों और उससे बचने के बारे में भी जानकारी दी गई । इसके अतिरिक्त कैंसर की समस्या का विवरण दिया गया है

Syllabus

DR. Hemalatha R | DR. Raja Sriswan Mamidi

ICMR - National Institute of Nutrition

Dr.Hemalathagraduated (MBBS) and obtained an MD from Gandhi Medical College, Hyderabad, Dr. NTR University of Health Sciences, Andhra Pradesh. Currently she is the Director of ICMR-National Institute of Nutrition, Hyderabad. Sheled the seminal work on Nutrient requirements- the RDAs and EARs for Indians; for the first time the Nutrient recommendations include the Estimated Average Requirements (EAR) and also the Tolerable Upper Limits (TUL) of nutrients alongside RDAs. The fortification strategies, food labelling, supplementation programs are based on these recommendations. She also spearheaded ‘My Plate for the Day’ which provides food-based guidelines for meeting micro and macronutrient requirements to prevent undernutrition and NCDs. As part of the Poshan Abhiyan initiative she developed 14 E-learning modules aimed at empowering adolescents, young adults, Anganwadi teachers, ASHA workers and the general public.Sheis also serving as the President of the Nutrition Society of India and as the Executive Council Member of the Federation of Asian Nutrition Societies (FANS).


Dr. M. Raja Sriswan, joined ICMR -National Institute of Nutrition as a senior research fellow (SRF) in 2008. As an SRF, he worked in the Hyderabad Dexa study under Dr. Hannah Kuper (London school of hygiene and tropical medicine, United Kingdom) and Dr. K.V Radhakrishna (then a senior scientist in the Clinical Division, NIN). He has also been the in charge medical officer for Nutrition ward (run by ICMR-NIN) at Niloufer hospital, a tertiary care hospital in Hyderabad. He has worked in the area of stunting, severe acute malnutrition, infant and young child feeding practices (IYCF) and cardiovascular diseases. His interests also include reproducible research based on R Programming software and dietary collection tools. He also did an internship at IIT-Kharagpur in 2016 for mobile and web based dietary collection tools.

Taught by

DR.R. HEMALATHA | DR. Raja Sriswan Mamidi

Reviews

Start your review of Non-Communicable Diseases (गैर संक्रामक रोग)

Never Stop Learning.

Get personalized course recommendations, track subjects and courses with reminders, and more.